New Year Wishes in Funny Rajasthani Style

रामजी थाने सगळा नै निरोगा राखै
कमाई दुनी चोगुणी बढ़ावे
टाबरिया आपस्यूं भी ऊँचा चढ़े।
घर आळी या घर आळा री मोकळी मेहरबानी रेवे।
घणे हेत सु,घणे कोड सु,महारे हिवङे री घणी हरक सु,
आप ने और आपरे सगले परिवार ने “न्योडा साल” री घणी-घणी शुभकामनाएँ !

 🙂 🙂 🙂 🙂 🙂
Advertisements

Rajasthani Joke – Sardi ki Samasya

भगवान को दियेड़ो सब है,

दोलत है,इज्जत है,शोहरत है,

तातो पाणी (Hot water) भी है
पर

नहाणे की इच्छा कोनि।।।।।।।

Funny Rajasthani Doctor Joke

एक राजस्थान के लड़के को जॉब नही मिली
तो उसने क्लिनिक खोला और बाहर लिखा…

“तीन सौ रूपये मे ईलाज करवाये
ईलाज नही हुआ तो एक हजार रूपये वापिस!”

एक पंडित ने सोचा कि एक हजार रूपये कमाने का अच्छा मौका है
वो क्लिनिक पर गया और बोला:
मुझे किसी भी चीज का स्वाद नही आता ।

लड़का:
बॉक्स नं. २२ से दवा निकालो
और ३ बूँद पिलाओ
नर्स ने पिला दी !!

पंडित: ये तो पेट्रोल है ।

लड़का:
मुबारक हो आपको टेस्ट महसूस हो गया
लाओ तीन सौ रूपये!!

पंडित को गुस्सा आ गया…
कुछ दिन बाद फिर वापिस गया
पुराने पैसे वसूलने

पंडित: साहब मेरी याददास्त कमजोर हो गई है

लड़का:
बॉक्स नं. २२ से दवा निकालो
और ३ बूँद पिलाओ

पंडित: लेकिन वो दवा तो जुबान की टेस्ट के लिए है

लड़का:
ये लो तुम्हारी याददास्त भी वापस आ गई
लाओ तीन सौ रुपए।

इस बार पंडित गुस्से में गया…
-मेरी नजर कम हो गई है!

लड़का:
इसकी दवाई मेरे पास नहीं है।
लो एक हजार रुपये।

पंडित: यह तो पांच सौ का नोट है।

राजस्थानी लड़का:

आ गई नजर।
ला तीन सौ रुपये।   🙂 🙂 🙂 🙂

Rajasthani Maths Teacher ki Ganit mein Kavita

एक बार एक गणित के अध्यापक से उसकी पत्नी ने गणित मे प्यार के दो शब्द कहने को कहा,
पति ने पूरी कविता लिख दी..

म्हारी गुणनखण्ड सी नार, कालजो मत बाल
थन समझाऊँ बार हजार, कालजो मत बाल

1. दशमलव सी आँख्या थारी, न्यून कोण सा कान,
त्रिभुज जेडो नाक, नाक री नथनी ने त्रिज्या जाण,
कालजो मत बाल

2. वक्र रेखा सी पलका थारी, सरल भिन्न सा दाँत,
समषट्भुज सा मुंडा पे, थारे मांख्या की बारात,
कालजो मत बाल

3.रेखाखण्ड सरीखी टांगा थारी, बेलन जेडा हाथ,
मंझला कोष्ठक सा होंठा पर टप-टप पड रही लार,
कालजो मत बाल

4.आयत जेडी पूरी काया थारी, जाणे ना हानि लाभ,
तू ल.स.प., मू म.स.प., चुप कर घन घनाभ,
कालजो मत बाल

5.थारा म्हारा गुणा स्युं. यो फुटया म्हारा भाग |
आरोही -अवरोही हो गयो, मुंडे आ गिया झाग ।
कालजो मत बाल

म्हारी गुणनखण्ड सी नार कालजो मत बाल
थन समझाऊँ बार हजार कालजो मत बाल!! 😀 🙂 🙂 🙂 🙂